Saturday, 4 January 2014

इंतजार शायरी

इंतजार शायरी


हमे भुला कर तो देखो ;
हर ख़ुशी तुमसे रूठ जाएगी;
जब भी देखोगे आईने में सूरत अपनी;
हमारी ही सूरत नज़र आएगी।

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.