Friday, 10 January 2014

हिंदी शायरी एस एम एस

हिंदी शायरी एस एम एस

पूछो ना उस कागज़ से जिस पे;
हम दिल के मुकाम लिखते है;
तन्हाइयों में बीती बातें तमाम लिखते है;
वो कलम भी दीवानी हो गई;
जिस से हम आप का नाम लिखते है।

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.